beauty2 heart-circle sports-fitness food-nutrition herbs-supplements

5-HTP मस्तिष्क में सेरोटोनिन के स्तर को बढ़ाने के लिए प्रकृति का सबसे अच्छा विकल्प है

डॉ. माइकल मरे द्वारा

इस लेख में:


5-हाइड्रोक्सीट्रिप्टोफैन (5-HTP) एक एमिनो एसिड है जो ट्रिप्टोफैन से महत्वपूर्ण मस्तिष्क रासायन सेरोटोनिन के निर्माण की प्रक्रिया के बीच उत्पन्न होता है। आहार पूरक के रूप में, 5-HTP को अक्सर प्राकृतिक स्रोत से प्राप्त किया जाता है - एक अफ्रीकी पौधे (ग्रिफोनिया सिंपिसिफोलिया) के बीज से। 

5-HTP का उपयोग मुख्य रूप से मस्तिष्क में सेरोटोनिन के स्तर को बढ़ाने के लिए किया जाता है। ऐसा लगता है कि कम सेरोटोनिन का स्तर आधुनिक जीवन का एक सामान्य परिणाम है क्योंकि ट्रिप्टोफैन से 5-HTP का रूपांतरण तनाव से भरी जीवनशैली से कम हो गया है। मस्तिष्क में सेरोटोनिन का कम स्तर लोगों को चिंतित, अधिक भावुक, भूखा, कार्बोहाइड्रेट की प्रबल इच्छा, और खराब नींद की गुणवत्ता का अनुभव कराता है। जाहिर है, ये लक्ष्ण इन दिनों कई लोगों को प्रभावित कर रहे हैं। सौभाग्य से, नैदानिक अध्ययनों से पता चला है कि 5-HTP कम सेरोटोनिन स्तर से जुड़ी स्थितियों से निपटने में उत्कृष्ट परिणाम देता है। वास्तव में, इन अध्ययनों के परिणामों के आधार पर 5-HTP सबसे अच्छा प्राकृतिक दृष्टिकोण है।1,2

तालिका 1 - सेरोटोनिन के विभिन्न स्तरों के प्रभाव

सेरोटोनिन का इष्टतम स्तर

सेरोटोनिन का निम्न स्तर

आशावान, आशावादी

उदास

शांत

चिंतित

“नेकदिल”

चिड़चिड़ा

सहनशील 

अधीर

चिंतनशील और विचारशील

आवेगशील

ध्यान केंद्रित करने में सक्षम

ज़्यादा समय ध्यान न दे पाना

रचनात्मक, केंद्रित

अवरुद्ध, अस्तव्यस्त

चीजों के माध्यम से सोचने में सक्षम

“अचानक आपा खो देना”

अनुक्रियाशील

प्रतिक्रियाशील

अत्यधिक मात्रा में कार्बोहाइड्रेट का सेवन नहीं करता

मिठाई और उच्च कार्बोहाइड्रेट वाले खाद्य पदार्थों की प्रबल इच्छा होती है

सपने याद रखने की बेहतर क्षमता के साथ अच्छे से सोता है    

अनिद्रा और सपने याद रखने की खराब क्षमता

ट्रिप्टोफैन 5-HTP के समान कैसे है?

संक्षेप में, यह वास्तव में समान नहीं है, 5-HTP पूरकता ट्रिप्टोफैन के उपयोग की तुलना में बहुत बेहतर परिणाम उत्पन्न करता है। ट्रिप्टोफैन  को सेरोटोनिन में परिवर्तित किए जाने से पहले इसे मस्तिष्क में 5-HTP में परिवर्तित किया जाना चाहिए है। ट्रिप्टोफैन से 5-HTP के रूपांतरण को सेरोटोनिन निर्माण में दर-सीमित चरण के रूप में परिभाषित किया गया है। तो संक्षेप में, यदि आप ट्रिप्टोफैन को 5-HTP में परिवर्तित नहीं कर पा रहे हैं, तो अधिक ट्रिप्टोफन लेने से मस्तिष्क में सेरोटोनिन का स्तर नहीं बढ़ेगा। 

कॉर्टिसोल जैसे तनाव से संबंधित हार्मोन के उच्च स्तर, इंसुलिन के प्रतिरोध और खराब रक्त शर्करा नियंत्रण या महत्वपूर्ण पोषक तत्वों का अपर्याप्त स्तर जैसे B6 और मैग्नीशियम के कारण ट्रिप्टोफैन का 5-HTP में रूपांतरण कई लोगों में ठीक से काम नहीं करता है। इसके अलावा, मस्तिष्क में प्रवेश करने के लिए ट्रिप्टोफैन को एक वाहक की आवश्यकता होती है। यह वाहक अन्य एमिनो एसिड्स को भी मस्तिष्क में स्थानांतरित करता है, इसलिए यह इतना कुशल नहीं है। 5-HTP आसानी से मस्तिष्क में प्रवेश कर जाता है और इसे किसी वाहक की आवश्यकता नहीं होती है। जबकि एल-ट्रिप्टोफैन की मौखिक खुराक का केवल 3% सेरोटोनिन में परिवर्तित होता है, इसके विपरीत 5-HTP की मौखिक खुराक का 70% सेरोटोनिन में परिवर्तित होता है।3,4 5-HTP में एक अतिरिक्त लाभ यह है कि यह फील-गुड सेरोटोनिन के स्तर को भी बढ़ाता है, जिसे एंडोर्फिन के रूप में जाना जाता है।

1970 के दशक में, 5-HTP के मनोदशा को बढ़ाने और शांत करने वाले प्रभावों की तुलना एल-ट्रिप्टोफैन से की गई थी।5,6  5-HTP के परिणाम बहुत बेहतर थे। वास्तव में, एल-ट्रिप्टोफैन ज्यादातर अध्ययनों में प्लेसिबो की तुलना में बस थोड़ा ही बेहतर साबित हुआ है। एक अध्ययन में, नैदानिक विशेषताएं (जैसे, आयु, लिंग) और मनोदशा स्कोर में मिलान किए गए 74 व्यक्तियों को या तो 5-HTP (200 मिलीग्राम/दिन), एल-ट्रिप्टोफैन (5 ग्राम/प्रतिदिन), या प्लेसिबो दी गई थी।7 अध्ययन की शुरुआत में और 30-दिवसीय परीक्षण के अंत में मानकीकृत मनोदशा स्केल प्रश्नावली का उपयोग करते हुए व्यक्तियों की विस्तृत मनोदशा मूल्यांकन किया गया। इस अध्ययन के परिणामों से पता चला है कि 5-HTP लेने वाले 26 व्यक्तियों में से 17 ने मनोदशा में महत्वपूर्ण वृद्धि का अनुभव किया, जबकि ट्रिप्टोफैन लेने वाले 25 व्यक्तियों में से केवल 10 और प्लेसिबो लेने वाले 23 में से 4 ने मनोदशा में महत्वपूर्ण वृद्धि का अनुभव किया। 

अतिरिक्त अध्ययनों में 5-HTP को या तो एक प्लेसिबो या अन्य मनोदशा बढ़ाने वाले यौगिकों की तुलना में मनोदशा स्कोर में सुधार करने में बहुत अनुकूल प्रभाव दिखाने के लिए दर्शाया गया है।7 5-HTP शांत और ध्यान की भावनाओं को बढ़ावा देने में भी महत्वपूर्ण प्रभाव डालता है।

5-HTP नींद की गुणवत्ता में सुधार कैसे करता है?

5-HTP ने नींद की गुणवत्ता में भी सुधार करने में ट्रिप्टोफैन की तुलना में बेहतर परिणाम दिखाए हैं। रात की बेहतर नींद को बढ़ावा देने में सेरोटोनिन ने अपने प्रभाव दर्शाएं हैं और यह मेलाटोनिन के निर्माण में बिल्डिंग ब्लॉक के रूप में भी कार्य करता है। कई डबल-ब्लाइंड नैदानिक परीक्षणों ने उन दोनों प्रकार के व्यक्तियों में जो आमतौर पर अच्छी तरह से नहीं सोते हैं और जो सामान्य तरह से सोते हैं, उनमें नींद को बढ़ावा देने और बनाए रखने में मदद करने में 5-HTP के अच्छे परिणाम दर्शाए हैं। 

5-HTP पूरकता को REM (रैपिड आई मूवमेंट) नींद को प्रोत्साहित करने में मदद करने के लिए दर्शया गया है। सपने देखना REM नींद से जुड़ा हुआ है और स्वस्थ नींद चक्र का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। 5-HTP, REM नींद को लगभग 25% बढ़ा देता है, जबकि नींद के गहरे स्तर (अवस्था 3 और 4) को भी बढ़ाता है। यह नींद की कम "गहरी" अवस्थाओं को कम करके कुल नींद के समय को बढ़ाए बिना गुणवत्ता नींद के उपायों को बढ़ाने में सक्षम है।10 एक अध्ययन में, 5-HTP की 200 मिलीग्राम खुराक लेने वाले प्रतिभागियों में अध्ययन की पांच रातों में REM नींद में 15 मिनट की वृद्धि देखी गई। यह रात में सपने के समय में लगभग 3 मिनट तक वृद्धि करता है।

जबकि 5-HTP नींद की गुणवत्ता में सुधार करता है भले ही इसे दिन के दौरान लिया गया हो, यह उल्लेख करना महत्वपूर्ण है कि डबल-ब्लाइंड, प्लेसिबो-नियंत्रित अध्ययनों में जहां दिन के दौरान 5-HTP पूरकता दी गई थी, वहां इसने प्लेसिबो की तुलना में दिन में अधिक उनींदापन या थकान उत्पन्न नहीं की।8,9

‌‌‌‌कार्बोहाइड्रेट की प्रबल इच्छा को कम करने में 5-HTP कितना प्रभावी है? 

5-HTP अत्यधिक कार्बोहाइड्रेट के सेवन को कम करने और वजन घटाने का समर्थन करने में बहुत मददगार हो सकता है। पचास साल से अधिक समय पहले, शोधकर्ताओं ने ऐसे चूहों में प्रयोग किए जिनमें आनुवंशिक रूप से मोटापे के विकसित होने की संभावना थी और दर्शाया कि 5-HTP पूरकता के कारण भोजन के सेवन में महत्वपूर्ण कमी आई जिसने अत्यधिक वजन बढ़ोतरी को रोका। ये चूहे चिकित्सकीय रूप से मोटे थे क्योंकि आनुवंशिक रूप से उनमें उस एंजाइम की गतिविधि का स्तर निम्न था, जो ट्रिप्टोफैन को 5-HTP में परिवर्तित करता है, जिसके परिणामस्वरूप मस्तिष्क में सेरोटोनिन का स्तर कम होता है। परिणामस्वरूप, इन चूहों में कार्बोहाइड्रेट का सेवन करने की प्रबल इच्छा थी और उन्हें भोजन खाना ना खाने का संदेश तब तक नहीं मिलता था जब तक कि वे सामान्य चूहों की तुलना में अधिक मात्रा में भोजन नहीं कर लेते थे। 

ऐसे कुछ सबूत हैं कि कई मनुष्यों में ट्रिप्टोफैन से 5-HTP के कम निर्माण के समान तंत्र सहित आनुवंशिक कारणों से मोटापे का शिकार होने की संभावना हो सकती है। पूर्व-निर्मित तरीके से 5-HTP प्रदान करने से मस्तिष्क में सेरोटोनिन का स्तर बढ़ सकता है, जिसके परिणामस्वरूप कार्बोहाइड्रेट का सेवन कम और भूख नियंत्रित हो सकती है।

चार मानव नैदानिक परीक्षणों से पता चला कि 5-HTP ने अधिक वजन वाली महिलाओं में वजन घटाने के सहायक के रूप में अच्छी तरह से काम किया।11-14 ये अध्ययन इटली में आयोजित किए गए और इनमें दिखाया गया कि इस तथ्य के बावजूद कि ये महिलाएं वजन कम करने या कैलोरी का सेवन कम करने के लिए कोई सचेत प्रयास नहीं कर रही थीं, 5-HTP कैलोरी की मात्रा को कम करने और तृप्ति को बढ़ावा देने में सक्षम था। अध्ययनों से पता चला कि 5-HTP समूह में पास्ता और ब्रेड से कम कैलोरी का सेवन हुआ था। नतीजतन, इन अध्ययनों के 5-6 सप्ताह के दौरान औसत वजन घटाने की दर प्रति सप्ताह 1 से 1.5 पाउंड के बीच थी। इस बारे में सोचें कि यदि कोई व्यक्ति अपने आहार और व्यायाम कार्यक्रम को इसके साथ जोड़ दे तो 5-HTP कितना प्रभावी साबित हो सकता है।

5-HTP लेने का सबसे अच्छा तरीका क्या है?

5-HTP पेट में जलन और मतली पैदा कर सकता है, इसलिए सर्वोत्तम परिणामों के लिए एंट्रिक-कोटेड कैप्सूल या टैबलेट का उपयोग करें। इन गोलियों को इस तरह तैयार किया जाता है कि ये पेट में घुलती नहीं हैं। 5-HTP युक्त चबाने योग्य गोलियाँ मतली से बचने का एक और तरीका है। जब 5-HTP का उपयोग रात की नींद की सहायता के अलावा किसी और वजह से किया जा रहा है, तो प्रारंभिक खुराक प्रति दिन तीन बार 50 मिलीग्राम है। यदि दो सप्ताह के बाद पर्याप्त प्रतिक्रिया नहीं मिलती है, तो खुराक को प्रति दिन तीन बार 100 मिलीग्राम तक बढ़ाया जा सकता है। 

जब 5-HTP का उपयोग रात की अच्छी नींद को बढ़ावा देने के लिए किया जा रहा है, तो सोने से लगभग आधे घंटे पहले सामान्य खुराक 50 से 150 मिलीग्राम है। खुराक बढ़ाने से कम-से-कम तीन दिनों तक 50 मिलीग्राम खुराक लेना सबसे अच्छा विकल्प है। 5-HTP को भोजन के साथ लिया जा सकता है, लेकिन वजन घटाने के लिए इसे भोजन से 20 मिनट पहले लें।

क्या 5-HTP के कोई अंतर्विरोध हैं?

5-HTP को आम तौर पर शरीर द्वारा अच्छी तरह से सहन किया जा सकता है। ऐसी कुछ स्थितियाँ हैं जहाँ इसका उपयोग नहीं किया जाना चाहिए:

  • गर्भावस्था या स्तनपान
  • पार्किंसंस रोग वाला कोई व्यक्ति जब तक वह Sinemet® (कार्बिडोपा और लेवोडोपा) दवा नहीं ले रहा है।
  • स्क्लेरोडर्मा (यह ट्रिप्टोफैन चयापचय के एक दोष से संबंधित है)।
  • मेथिसर्जगाइड और साइप्रोहेप्टैडाइन दवाएं लेने वाले मरीज।
  • यदि आप किसी चिक्त्सिक द्वारा लिखी कोई और दवा ले रहे हैं, तो 5-HTP के साथ इसके किसी भी संभावित परस्पर प्रभाव के बारे में अपने चिक्त्सिक या फार्मासिस्ट से सलाह लें।

क्या 5-HTP दीर्घकालिक उपयोग के लिए सुरक्षित है?

5-HTP को अनिश्चित काल के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है क्योंकि ट्रिप्टोफैन से 5-HTP रूपांतरण में आनुवंशिक दोष वाले कुछ लोगों को आजीवन इसकी पूरकता की आवश्यकता होती है। यदि 5-HTP का सेवन लंबे समय तक किया जा रहा है तो कुछ विशेषज्ञ नियमित (हर साल) इओसिनोफिल निर्धारण की निगरानी करने की सलाह देते हैं। यह निर्धारण एक मानक प्रयोगशाला रक्त परीक्षण का हिस्सा है जिसे पूर्ण रक्त गणना (CBC) के रूप में जाना जाता है और यह 5-HTP से किसी भी असामान्य प्रतिक्रिया की जाँच में मदद करता है।  

संदर्भ:

  1. Murray M.T., 5-HTP: The Natural Way to Overcome Depression, Obesity, and Insomnia. Bantam NY 1999.
  2. Turner E.H.; Loftis J.M.; Blackwell A.D..  Serotonin a la carte: supplementation with the serotonin precursor 5-hydroxytryptophan.  Pharmacol Ther  (2006) 109  325–338.
  3. In: (editors: Filippini G.A.; Costa C.V.L.; Bertazzo A.. )  Recent Advances In Tryptophan Research, Tryptophan and Serotonin Pathways.  Plenum Publ Corp: New York, NY.
  4. Magnussen I.E.; Nielsen-Kudsk F..  Bioavailability and related pharmacokinetics in man of orally administered L-5-hydroxytryptophan in steady state.  Acta Pharmacol Toxicol (Copenh)  (1980) 46  257–262.
  5. Byerley W.F.; Judd L.L.; Reimherr F.W.; et al. 5-Hydroxytryptophan. A review of its antidepressant efficacy and adverse effects.  J Clin Psychopharmacol  (1987) 7  127–137.
  6. Van Praag H.M..  Studies on the mechanism of action of serotonin precursors in depression.  Psychopharmacol Bull  (1984) 20  599–602.
  7. Jangid P.; Malik P.; Singh P.; Sharma M.; Gulia AK.. Comparative study of efficacy of l-5-hydroxytryptophan and fluoxetine in patients presenting with first depressive episode. Asian J Psychiatr. (2013) 6(1) 29-34.
  8. Poldinger W.; Calanchini B.; Schwarz W..  A functional-dimensional approach to depression: serotonin deficiency as a target syndrome in a comparison of 5-hydroxytryptophan and fluvoxamine.  Psychopathology  (1991) 24  53–81.
  9. Wyatt R.J.; Zarcone J.; Engelman K..  Effects of 5-hydroxytryptophan on the sleep of normal human subjects.  Electroencephalogr Clin Neurophysiol  (1971) 30  505–509.
  10. Ceci F.; Cangiano C.; Cairella M.; et al. The effects of oral 5-hydroxytryptophan administration on feeding behavior in obese adult female subjects.  J Neural Transm  (1989) 76  109–117.
  11. Cangiano C.; Ceci F.; Cairella M.; et al. Effects of 5-hydroxytryptophan on eating behavior and adherence to dietary prescriptions in obese adult subjects.  Adv Exp Med Biol  (1991) 294  591–593.
  12. Cangiano C.; Ceci F.; Cascino A.; et al. Eating behavior and adherence to dietary prescriptions in obese adult subjects treated with 5-hydroxytryptophan.  Am J Clin Nutr  (1992) 56  863–867.
  13. Cangiano C.; Laviano A.; Del Ben M.; et al. Effects of oral 5-hydroxy-tryptophan on energy intake and macronutrient selection in non-insulin dependent diabetic patients.  Int J Obes Relat 
  14. Das Y.T.; Bagchi M.; Bagchi D.; et al. Safety of 5-hydroxy-L-tryptophan.  Toxicol Lett  (2004) 150  111–122.

संबंधित लेख

सभी देखें

तंदुरुस्ती

एस्कॉर्बिक एसिड (विटामिन सी) क्या है? लाभ, सप्लीमेंट्स और बहुत कुछ

तंदुरुस्ती

सेब के सिरके का स्वाद पसंद नहीं? एसीवी पूरक आज़माने के 6 कारण

तंदुरुस्ती

एल्डरबेरी के शक्तिशाली प्रतिरक्षा संबंधी और विषाणुरोधी लाभ