checkoutarrow
IN
24/7 सहायता
beauty2 heart-circle sports-fitness food-nutrition herbs-supplements
तंदुरुस्ती

हवाई यात्रा करते समय स्वस्थ बने रहने के लिए 10 सुझाव

20 दिसंबर 2019

वीनस रैमॉस, एमडी द्वारा लिखित

इस लेख में:


चाहे आप व्यवसाय के लिए यात्रा कर रहे हों या आनंद के लिए, अपने गंतव्य पर पहुंचने के बाद बीमार पड़ जाने में कोई मज़ा नहीं आता है। अगली बार विमान में सवार होने पर यदि आप बीमार होने से बचना चाहते हैं तो आपको ये 10 जरूरी सुझाव ध्यान में रखने चाहिए।

1. अपने हाथों को साफ रखें

अपने साथ विमान पर सैनिटाइज़िंग जेल या वाइप्स लाना न भूलें। सेंटर फॉर डिसीज़ कंट्रोल एंड प्रिवेंशन कम से कम 60% अल्कोहल से युक्त सैनिटाइज़र का उपयोग करने की अनुशंसा करता है। हानिकारक रसायनों से रहित प्राकृतिक उत्पाद भी उपलब्ध हैं। विमान पर किसी भी अस्वच्छ सतह को छूने के बाद कुछ भी खाने या पीने से पहले, और अपने हाथों से अपनी आँखों, नाक, या मुंह को छूने से पहले हाथ का सैनिटाइज़र लगाना चाहिए।

सैनिटाइज़र का उपयोग अपनी कुर्सी, कुर्सी की पेटी, आर्मरेस्ट, ट्रे टेबल, और टचस्क्रीन मनोरंजन केंद्र को पोंछने के लिए करें। बैक्टीरिया विमान के भीतर सतहों पर छोड़े जाने के बाद कई दिनों तक जीवित रह सकते हैं। एक अध्ययन ने दर्शाया कि ई. कोलाई 4 दिनों तक जीवित रहे, जबकि MRSA (मेथिसिलीन रेसिस्टैंट स्टैफिलोकॉकल ऑरियस) को कम से कम एक हफ्ते तक कुछ भी नहीं हुआ। 

अपने सामने की कुर्सी की जेब को छूने से बचें। सैनिटाइज़र कुर्सी की जेब के कपड़े पर अधिक प्रभावी नहीं होते हैं और लोग इन पॉकेटों का उपयोग लगभग कोई भी चीज रखने के लिए करते हैं। फेंकी गई चीजों में इस्तेमाल किए गए टिश्यू से लेकर गंदे डायपर शामिल हैं।

विमान के शौचालय के सिंक का उपयोग करने के बाद भी अपने हाथों पर सैनिटाइज़र लगाना एक अच्छा विचार है। विमान पर उपलब्ध नल का पानी भी स्वच्छ नहीं माना जाता है। 2004 में, पर्यावरण संबंधी सुरक्षा एजेंसी (EPA) ने निर्धारित किया कि विमान पर उपलब्ध सभी सार्वजनिक पानी की प्रणालियाँ राष्ट्रीय पीने के पानी के प्राथमिक विनियमों का अनुपालन नहीं करती हैं। EPA द्वारा जांचे गए 327 में से 15 विमानों के पीने के पानी में मल में पाए जाने वाले बैक्टीरिया अधिक संख्या में मौजूद थे।

2009 में, एजेंसी ने विमानों की पानी की प्रणालियों के लिए नए विनियम बनाए। तथापि, 2019 में प्रकाशित एक एयरलाइनों में उपलब्ध पानी के अध्ययन ने दर्शाया कि विभिन्न एयरलाइनों में पीने के पानी की गुणवत्ता में भिन्नता थी, और हो सकता है कि उनमें से कई ने अपने यात्रियों को अस्वास्थ्यकर पानी प्रदान किया था।

2. ढेर सारा स्वच्छ पानी पिएं

पानी के संदूषण की संभावना को ध्यान में रखते हुए, विमान में प्रदान किए गए किसी भी पानी को न पीना ही समझदारी होगी बशर्ते कि वह किसी सील किए गए कैन या बोतल सं लाया गया हो। विमान पर बनाई गई चाय या कॉफी पीने से भी बचें। आप अपनी खाली पुनः उपयोग करने योग्य पानी की बोतल को अपने साथ ला सकते हैं, और विमानस्थल पर सुरक्षा जांच को पूरा करने के बाद, विमान में चढ़ने से पहले किसी पीने के पानी के स्थान पर उसे भर सकते हैं।

यात्रा से दो दिन पहले से शुरू करते हुए और अपनी उड़ान के दौरान नियमित रूप से ढेर सारा पानी पिएं, क्योंकि विमान का वातावरण बहुत शुष्क हो सकता है - उसमें आर्द्रता का स्तर अक्सर 20% से कम रहता है। विमान पर हर घंटे लगभग आठ औंस पानी पीने का लक्ष्य रखें। जब आपके शरीर में पानी की कमी हो जाती है, तो आपकी श्लेष्म झिल्लियाँ शुष्क हो जाती हैं जिससे वायरस और बैक्टीरिया के संक्रमणों की संभावना बढ़ जाती है। 

निर्जलीकरण से सिरदर्द, गले का खराब होना, और आँखों व त्वचा के शुष्क होने जैसे परेशानी भरे लक्षण भी पैदा हो सकते हैं। ऐसे लक्षण अपने गंतव्य पर पहुंचने के बाद काफी समय तक बने रह सकते हैं।

कैफीन या अल्कोहल से युक्त पेय पदार्थों को सीमित करें। अधिक मूत्र पैदा करने के प्रभाव के कारण, ऐसे पेय पदार्थ बहुत अधिक निर्जलीकरण पैदा कर सकते हैं। यही नहीं, चूंकि अधिक ऊंचाईयों पर ऑक्सीजन के स्तर कम हो जाते हैं, आपके मस्तिष्क को ऑक्सीजन कम मिलती है जिससे आपके द्वारा सेवन किए गए किसी भी अल्कोहल के प्रभाव बढ़ जाते हैं।

3. हवा के छिद्र का उपयोग करें

आधुनिक विमान हाई-टेक एयर फिल्टरों से सुसज्जित होते हैं जो, इंटरनेशनल एयर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के अनुसार, हवा से 99.9995% धूल और सूक्ष्मजीवों को साफ कर देते हैं। इसके अलावा, हवा का संचरण केबिन के केवल एक भाग में ही होता है जिससे वायु-संचार का वर्गीकरण हो जाता है।

दुर्भाग्य से, यदि आपके बगल में बैठा व्यक्ति फ्लू या जुकाम के कारण छींकता है, तो कोई रोगाणु एयर फिल्टर में जाने से पहले आपके वायुमार्गों में प्रवेश कर सकता है। इसका सामना करने के लिए, अपने व्यक्तिगत स्थान से सूक्ष्मजीवों को दूर भगाने के लिए हवा के छिद्र का उपयोग करें। हवा को मध्यम सेटिंग पर रखें और सिर के ऊपर स्थित छिद्र को इस तरह से रखें कि हवा का प्रवाह सीधे आपके सिर के सामने की तरफ हो। यदि आप अपने हाथों को अपनी गोद में रखते हैं, तो आपको वहाँ पर हवा का प्रवाह महसूस होना चाहिए, और आपके चेहरे पर नहीं।

4. अपनी कुर्सी का चुनाव अकलमंदी से करें

जब भी संभव हो खिड़की के पास वाली कुर्सी का चुनाव करें। विमान पर हवा का प्रवाह केबिन के शीर्ष से नीचे की ओर जाने और खिड़की के बगल के फर्श पर स्थित छिद्रों से निकलने के लिए परिकल्पित होता है। हवा के प्रवाह की इस दिशा के कारण, खिड़की की कुर्सियों पर बैठे यात्री गलियारे की कुर्सियों पर बैठे लोगों की अपेक्षा हवा में मौजूद सूक्ष्मजीवों के संपर्क में कम आते हैं।

यदि आपको पता चलता है कि आप किसी बीमार व्यक्ति के पास बैठे हैं, तो जान लें कि संक्रमण का जोखिम तीन पंक्तियों के एक क्षेत्र से बाहर कम हो जाता है। लेकिन वायरस के श्वसन मार्ग में जाने के जोखिम में होने के लिए आपको ऐसे बीमार व्यक्ति की 1-2 पंक्तियों के भीतर होना पड़ेगा जो सक्रिय रूप से खांस रहा है और उसे दबाने की कोशिश नहीं कर रहा है।

साथ ही, ऐसी कुर्सी का चुनाव करने पर विचार करें जो शौचालय के पास न हो, क्योंकि लोग उसके आस-पास जमा हो जाते हैं या बार-बार उसके पास से आते-जाते हैं। यह संदेह करना गलत नहीं होगा कि विमान पर मौजूद जो लोग बाथरूम में अधिक देर तक रहते हैं, हो सकता है कि वे लोग ही पहले से बीमार हों।

5. उड़ान के दौरान स्वस्थ और हल्का भोजन खाएं

विमान के प्रोसेस किए गए मांसाहार और अल्पाहारों से दूर रहें। सलाद और ताज़ा फलों या सब्ज़ियों को प्राथमिकता दें। गैस या पेट के फूलने में मदद करने वाले खाद्य पदार्थों -- मकई, बीन्स, प्याज, या पत्तागोभी, ब्रोकोली, और फूलगोभी जैसी क्रूसदार सब्ज़ियों से बचें। खट्टी डकारें (acid reflux) पैदा करने में सक्षम मसालेदार खाद्य पदार्थों से बचें। विमान पर होने के समय, आपके शरीर की गैसें एक-तिहाई विस्तारित हो जाती हैं और पाचन मंद पड़ जाता है।

6. शांत बने रहें

तनाव आपके शरीर पर कयामत बरपा कर सकता है। हवाई अड्डे तक पहुंचने के लिए पर्याप्त समय रख कर चलें। यात्रा से पहले वाले दिन अपने मोबाइल पर पूर्व चेक-इन विकल्प का उपयोग करें। आरामदेह कपड़े पहनें ताकि सुरक्षा पंक्ति में से गुजरते समय आपको कठिनाई न हो। उदाहरण के लिए, पुलओवर या बटन लगाने वाले जैकेट की जगह ज़िप वाले जैकेट को चुनें।

7. पर्याप्त विश्राम करें

जब आप पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं तो आपके बीमार पड़ने की संभावना बढ़ जाती है क्योंकि आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली कमज़ोर हो जाती है। अपनी उड़ान से पहले वाली रात को कम से कम 7-8 घंटे नींद लें। सोते समय अपनी कनपटी या तकिये पर एक बूंद लैवेंडर का तेल लगाने से आपको शिथिल होने और अच्छी नींद लेने में मदद मिल सकती है।

यात्रा करने से पहले, अपने सोने के कार्यक्रम में आपके गंतव्य के समय से मेल खाने के लिए परिवर्तन करें। यदि आप पश्चिम से पूर्व की ओर यात्रा कर रहे हैं, तो आपको सोने के लिए जल्दी जाने की जरूरत पड़ेगी। रवाना होने से पहले कई रातों में प्रत्येक रात को सोने के समय से 30 मिनट पहले सोने का प्रयास करें।

यदि आपको जल्दी सोने में कठिनाई हो रही है, तो आपके गंतव्य के सोने के समय से 90 मिनट पहले मेलाटोनिन की छोटी सी खुराक (0.5 मिग्रा) लेने से मदद मिल सकती है। तथापि, मेलाटोनिन का उपयोग लंबी अवधि के लिए मत करें। इसके संभावित दुष्प्रभावों में दुःस्वप्न, दिन के समय उनींदापन, और रक्त शर्करा में वृद्धि शामिल हैं। मेलाटोनिन के साथ लेने पर, मिर्गी के दौरों, जन्म नियंत्रण, और उच्च रक्तचाप की दवाईयाँ भी कम प्रभावी हो सकती हैं, इसलिए इसका उपयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करना ठीक रहेगा।

8. चलते-फिरते रहें

विमान में उड़ते समय कुछ मांसपेशियों को खींचने वाली (स्ट्रेचिंग) और ठहर कर की जाने वाली कसरतें करें। इससे न केवल विमान में लंबी अवधि तक बैठे रहने से महसूस होने वाली मांसपेशियों की जकड़न को कम करने में मदद मिल सकती है, इससे डीप वेन थ्रॉम्बोसिस (गहरी शिरा की घनास्रता) की रोकथाम भी हो सकती है। यह रोग, जिसे आम तौर पर DVT कहते हैं, तब होता है जब किसी शिरा के भीतर खून का थक्का बन जाता है। यह खून का थक्का टूट सकता है और आपके फेफड़ों में जा सकता है जो कि जीवन-घातक सिद्ध हो सकता है।

DVT के विकसित होने का जोखिम तब बढ़ जाता है यदि आपको खून के थक्के बनने के अन्य जोखिम कारक हैं जिनमें कैंसर, मोटापा, वेरीकोज़ वेन्स, हाल में की गई सर्जरी, हार्मोन प्रतिस्थापन उपचार, और 40 वर्ष से अधिक की आयु शामिल हैं। 

यहाँ कुछ उपाय पेश हैं जिन्हें आप DVT की रोकथाम के लिए कर सकते हैं:

  • अपने पैरों को हर एक घंटे पर हिलाएं। आप अपने पैरों को लंबा करने के लिए खड़े हो सकते हैं, अपने पैरों को सीधा कर सकते हैं और अपने टखनों को आगे और पीछे मोड़ सकते हैं, या अपने घुटनों को अपने सीने तक 15 सेकंड के लिए ला सकते हैं जिसे आप 10 बार दोहरा सकते हैं।
  • अपने पैरों को एक-दूसरे पर रखने से बचें।
  • यदि आपको DVT होने का अधिक जोखिम है तो अपने चिकित्सक से रक्त संचार बढ़ाने के लिए कम्प्रेशन स्टॉकिंग पहनने के बारे में पूछें।

9. अपनी प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाएं

टीके देने के बाद प्रतिरक्षा शक्ति के निर्माण में अक्सर कुछ समय लगता है, इसलिए अपने चिकित्सक से पूछें कि क्या यात्रा के लिए कोई फ्लू का इंजेक्शन या अन्य टीके लेना आपके लिए उचित है या नहीं। उदाहरण के लिए, फ्लू का मौसमी टीका प्रभावी होने के लिए यात्रा से 7-10 दिन पहले लेना पड़ता है।

आपके लिए कुछ पूरक भी फायदेमंद साबित हो सकते हैं:

  • विटामिन डी आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने में भूमिका निभाता है।
  • विटामिन सी को सर्दी-जुकाम के लक्षणों की अवधि को कम करने में मदद करते दर्शाया गया है।
  • प्रोबायोटिक्स आपके पेट के सूक्ष्मजीवियों को बेहतर बनाकर आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा दे सकते हैं।

10. एंटीऑक्सीडैंट का सेवन बढ़ाएं

हवाई यात्रा आपको जमीन पर अनुभव होने वाले सौर और अंतरिक्षीय विकिरण के स्तरों से थोड़े अधिक स्तरों के संपर्क में लाती है। खाद्य पदार्थों में एंटीऑक्सीडैंट की मात्रा बढ़ाने से विकिरण के संपर्क में आने से होने वाली डीएनए की क्षति का सामना करने में मदद मिल सकती है। वास्तव में, एयरलाइन पायलटों पर किए गए शोध ने दर्शाया है कि आहार में एंटीऑक्सीडैंट्स का अधिक सेवन करने से डीएनए की क्षति कम होती है।

फाइटोन्यूट्रिएंट पौधों द्वारा उत्पन्न किए गए यौगिक हैं और वे अच्छे एंटीऑक्सीडैंट गुणों से युक्त होते हैं। फाइटोन्यूट्रिएंट खाद्य पदार्थों के उदाहरणों में गिरियाँ,बीज, खट्टे फल, गाजर, कद्दू, ब्रोकोली, और हरी, पत्तेदार सब्ज़ियाँ शामिल हैं।

इन 10 सुझावों का अनुसरण करें और आपकी अगली यात्रा स्वस्थ और खुशहाल बन जाएगी। 

संबंधित लेख

सभी देखें

तंदुरुस्ती

बी-विटामिन के 8 प्रकार और उनके स्वास्थ्य लाभ

तंदुरुस्ती

अपनी कपड़े धोने की दिनचर्या को स्वच्छ करें

तंदुरुस्ती

मोनोलॉरिन: इस प्राकृतिक रोगाणुरोधी का पूरक क्यों लें?