beauty2 heart-circle sports-fitness food-nutrition herbs-supplements

विटामिन सी के 6 विभिन्न प्रकार और उनका उपयोग कैसे करें

एरिक मैड्रिड एमडी द्वारा

इस लेख में:


विटामिन सी, जिसे एस्कॉर्बिक एसिड या एस्कॉर्बेट भी कहा जाता है, पिछले 50 वर्षों में सबसे अधिक शोधित विटामिनों में से एक है। वैज्ञानिक साहित्य की एक खोज से पता चलता है कि पिछली सदी में विटामिन सी पर 65,000 से अधिक अध्ययन किए गए हैं।

कई वैज्ञानिकों का मानना है कि एक समय में मानव शरीर में विटामिन सी बनाने की क्षमता थी, लेकिन एक आनुवंशिक उत्परिवर्तन (आई-गुलेनोलैक्टोन ऑक्सीडेज जीन) के कारण, हमने समय के साथ इस क्षमता को खो दिया। वास्तव में, जानवरों की सभी प्रजातियां और अधिकांश स्तनधारी विटामिन सी बना सकते हैं - लेकिन मनुष्य, बंदर और गिनी पिग के साथ कुछ चमगादड़, पक्षी और मछली की प्रजातियां विटामिन सी नहीं बना पाती हैं। इसलिए, हम मनुष्यों को अपने आहार में विटामिन सी का सेवन करना चाहिए।

वर्तमान में, विटामिन सी के लिए अनुशंसित दैनिक खुराक (आरडीए) पुरुषों के लिए प्रति दिन 90 मिलीग्राम और महिलाओं के लिए 75 मिलीग्राम प्रति दिन है। धूम्रपान करने वाले व्यक्तियों में धूम्रपान न करने वाले व्यक्तियों की तुलना में 400 प्रतिशत अधिक कमी होने की संभावना होती है यह सिगरेट के कारण होने वाले अतिरिक्त ऑक्सीकरण के कारण, विटामिन के स्वस्थ स्तर को बनाए रखने के लिए अधिक विटामिन सी की आवश्यकता होती है। मस्तिष्क और अधिवृक्क ग्रंथियों में रक्त में पाए जाने वाले विटामिन सी की तुलना में 15 से 50 गुना अधिक सांद्रता होती है। एंटीऑक्सिडेंट गुणों वाले विटामिन सी, कम से कम आठ महत्वपूर्ण जैव रासायनिक प्रतिक्रियाओं के लिए एक एंजाइम "सह-कारक" भी है।

जबकि मानक अनुशंसित आहार खुराक (आरडीए) की मात्रा विटामिन सी की अत्यधिक कमी के कारण होने वाली स्कर्वी जैसी स्थितियों से बचने के लिए पर्याप्त है, लेकिन वे एक मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली और हृदय, मस्तिष्क और त्वचा स्वास्थ्य सहित अन्य स्वास्थ्य लाभ प्राप्त करने के लिए अपर्याप्त हैं। कुछ लोगों ने सुझाव दिया है कि विटामिन सी के पूर्ण लाभों का अनुकूलन करने के लिए विटामिन सी का सेवन प्रति दिन कम से कम 200 मिलीग्राम होना चाहिए।

विटामिन सी की कमी कितनी आम है?

अमेरिकियों के 2004 के एक अध्ययन के अनुसार, 14 प्रतिशत पुरुष और 10 प्रतिशत महिलाओं में विटामिन सी की कमी थी। इसके अलावा, 12 से 17 वर्ष के छह प्रतिशत बच्चों में भी अपर्याप्त स्तर देखा गया। 25 से 64 वर्ष के बीच के सत्रह प्रतिशत पुरुषों में कमी देखी गई, जबकि उस जनसांख्यिकीय में 12 प्रतिशत महिलाओं में रक्त की कमी पाई गई। ब्रिटेन में 1999 में एक अध्ययन में पाया गया कि 65 वर्ष की आयु के 33 प्रतिशत लोग विटामिन सी की अपर्याप्त मात्रा का सेवन करते है।

द अमेरिकन जर्नल ऑफ़ क्लिनिकल न्यूट्रिशन में 2009 के एक अध्ययन में पाया गया कि छह साल और उससे अधिक उम्र के सात प्रतिशत लोगों में रक्त परीक्षण के परिणामों में विटामिन सी की कमी पाई गई। सर्वेक्षण में शामिल आधे से ज्यादा लोग विटामिन सी से भरपूर खाद्य पदार्थों का कम मात्रा में सेवन करते हैं।

मैंने इसे अपने पेशे में भी देखा है। पिछले पांच वर्षों में, मैंने स्कर्वी के साथ कम से कम चार रोगियों का निदान किया, यह बीमारी पारंपरिक रूप से ब्रिटिश नाविकों में देखी जाती थी जिनके पास ताजे फल तक सीमित पहुंच थी। स्कर्वी ग्रस्त मेरा पहला रोगी धूम्रपान करने वाली और अपूर्णआहार लेने वाली 40 वर्षीय महिला थी। वह अपने मसूड़ों और त्वचा का आसानी से खरोंच लगने के बारे में चिंतित थी, और जब उसके दंत चिकित्सक ने मसूड़ों की बीमारी नहीं होने की पुष्टि की, तो उसके बाद, मैंने रक्त परीक्षण करवाने को कहा, जिसमें विटामिन सी की कमी की पुष्टि हुई, और स्कर्वी का पता चला। विटामिन सी सप्लीमेंट के कुछ हफ़्ते बाद उसके मसूड़ों के रक्तस्राव और खरोंच के लक्षणों में सुधार हुआ। अन्य तीन रोगियों में भी उनके मसूड़ों का रक्तस्राव और खरोंच जैसे शुरुआती लक्षण देखे गए।

शरीर में विटामिन सी को कैसे मापें

शरीर में विटामिन सी की मात्रा को मापने के दो मुख्य तरीके है। पहला रक्त सीरम स्तर है। महिलाओं के लिए, सामान्य स्तर 0.3-2.7 mg/dL के बीच होता है जबकि पुरुषों के लिए सामान्य स्तर 0.2-2.1 mg/dL होता है। दूसरा सफेद रक्त कोशिकाओं, या ल्यूकोसाइट्स में विटामिन सी के स्तर की जाँच करना है। संदर्भ सीमा प्रयोगशाला पर निर्भर करती है।

विटामिन सी की कमी के जोखिम कारक

  • फलों और सब्जियों के कम उपभोग के साथ अपूर्ण आहार
  • तम्बाकू धूम्रपान (प्रत्येक सिगरेट लगभग 40-60 मिग्रा विटामिन सी का ऑक्सीकरण करती है)
  • वायु प्रदूषण का जोखिम
  • भारी धातु का जोखिम (सीसा, पारा)

विटामिन सी की कमी के लक्षण

  • खरोंच लगना
  • थकान
  • अवसाद
  • मसूड़ों से खून बहना
  • जोड़ों का दर्द
  • हड्डी में दर्द
  • मांसपेशियों का दर्द
  • सूजन

विटामिन सी के फल स्रोत

  • अकरोला चेरी
  • एवोकाडो
  • अमरूद
  • पपीता
  • आम
  • संतरे
  • अनानास
  • खरबूजा
  • कीवी
  • स्ट्रॉबेरीज

विटामिन सी के वनस्पति स्रोत

  • शिमला मिर्च
  • बोक चोय
  • ब्रॉकली
  • पत्तागोभी
  • करमसाग
  • ब्रसल स्प्राउट
  • आलू

विटामिन सी के स्वास्थ्य लाभ

  • आयरन के अवशोषण को बढ़ाकर एनीमिया के इलाज में मदद करता है
  • कोलेजन और त्वचा का स्वास्थ्य
  • दिल का स्वास्थ्य
  • प्रतिरक्षा सहायता
  • स्मृति स्वास्थ्य
  • पेरियोडोंटल बीमारी को रोकने में मदद करता है
  • ऊपरी भाग के श्वसन संक्रमण / जुकाम को रोकने में मदद करता है
  • मिर्गी के विकारों से बचाव में मदद करता है
  • सेप्सिस (रक्त संक्रमण) से बचाव में मदद करता है

नीचे चर्चा किए गए लाभों के अलावा, विटामिन सी अस्पताल, विशेष रूप से, गहन देखभाल इकाई में भर्ती होने वालों के लिए फायदेमंद प्रतीत होता है। पौषक तत्वों (न्यूट्रिएंट्स) के बारे में एक 2019 मेटा-विश्लेषण अध्ययन में 18 से अधिक अध्ययनों और 2,000 से अधिक रोगियों को देखा गया, उसमें उल्लेख किया कि जिन रोगियों ने विटामिन सी का सेवन किया था, उनके आईसीयू में रहने के लिए उन लोगों की तुलना में 8 से 18 प्रतिशत की कमी आई, जिन्हें विटामिन सी नहीं दिया गया था।

उपभोक्ताओं के लिए विभिन्न फॉर्मूलेशन्स उपलब्ध हैं।

‌‌‌‌1. एस्कॉर्बिक एसिड

एस्कॉर्बिक एसिड सबसे अधिक उपभोग किया जाने वाला और विटामिन सी का सबसे कम महंगा रूप है। हालांकि, इसका हल्का अम्लीय घटक कुछ लोगों के पाचन तंत्र के लिए खराब हो सकता है, विशेष रूप से पेट के एसिड की समस्या से ग्रस्त लोगों के लिए। कई अध्ययन विटामिन सी के इस फॉर्मूलेशन का उपयोग करते हैं। जबकि एस्कॉर्बिक एसिड को कृत्रिम रूप से बनाया जाता है, यह प्रकृति में पाए जाने वाले फॉर्मूलेशन्स के समान है। अध्ययन से पता चलता है कि केवल दी गई खुराक का 30 प्रतिशत वास्तव में अवशोषित होता है, शोधकर्ताओं ने अन्य फॉर्मूलेशन्स की भी मांग की है जो जठरांत्र के मार्ग में बेहतर अवशोषित हो सकते हैं। एस्कॉर्बिक एसिड टैबलेट, कैप्सूल या पाउडर के रूप में उपलब्ध है। निम्नलिखित खनिज एस्कॉर्बेट्स हैं।

  • कैल्शियम एस्कॉर्बेट – इस फॉर्मूलेशन में कैल्शियम (100 मिग्रा) और एस्कॉर्बेट (900 मिग्रा) दोनों शामिल हैं और उन लोगों द्वारा लिया किया जाना चाहिए जो ऑस्टियोपीनिया और ऑस्टियोपोरोसिस की रोकथाम के साथ हड्डियों के स्वास्थ्य में सुधार करना चाहते हैं। 2018 के अध्ययन के अनुसार, इसका लाभ यह भी है कि यह समान एंटीऑक्सीडेंट क्षमता को बनाए रखते हुए एस्कॉर्बिक एसिड गठन की तुलना में कम गैस्ट्रिक जलन पैदा करता है।
  • मैग्नीशियम एस्कॉर्बेट – इस फॉर्मूलेशन में मैग्नीशियम (50 से 100 मिग्रा) और 900 मिग्रा एस्कॉर्बेट दोनों होते हैं। यह मैग्नीशियम कम करने वाली दवाओं (यानी एसिड रिड्यूसर और मूत्रवर्धक) का सेवन करने वाले उन लोगों के लिए एक बढ़िया विकल्प हो सकता है, जो पुराने सिरदर्द या लगातार पैर में ऐंठन के साथ ग्रस्त हैं। मैग्नीशियम की कमी दिल की धड़कन या अतालता के जोखिम को बढ़ा सकती है, इसलिए ऐसे लोगों को मैग्नीशियम एस्कॉर्बेट दिया जा सकता है।
  • सोडियम एस्कॉर्बेट – इस फॉर्मूलेशन में सोडियम (~100 मिग्रा) और 900 मिग्रा एस्कॉर्बेट दोनों होते हैं। कम नमक वाले आहार के लोगों को इसे नहीं लेना चाहिए। जबकि कम नमक वाले आहार पर अधिकांश लोगों को अपना दैनिक कुल 2,000 मिग्रा से कम रखना चाहिए, यहां तक कि कम मात्रा भी समय के साथ नुकसानदायक है।

‌‌‌‌2. एस्कॉर्बेट और विटामिन सी मेटाबोलाइट्स (एस्टर-सी®)

एस्कॉर्बेट और विटामिन सी मेटाबोलाइट्स (एस्टर-सी®) कैल्शियम-एस्कॉर्बेट का एक पेटेंट फॉर्मूलेशन है जिसे 1980 के दशक में खोजा गया था। इसमें थोड़ी मात्रा में विटामिन सी मेटाबोलाइट्स जैसे कैल्शियम थ्रोनोएट, जिओलेट, और लिक्सेनेट, साथ ही साथ डीहाइड्रोस्कॉर्बिक एसिड होता है। निर्माता दावा करता है कि यह नियमित रूप से एस्कॉर्बिक एसिड की तुलना में अवशोषण और उच्च विटामिन सी रक्त के स्तर को बेहतर बनाने में मदद करता है।

2008 के एक अध्ययन ने नियमित एस्कॉर्बिक एसिड के रूप में कैल्शियम एस्कॉर्बेट के अंतर्ग्रहण के बाद रक्त सीरम और ल्यूकोसाइट्स के स्तर का मूल्यांकन किया। दोनों समूहों में रक्त सीरम एस्कॉर्बिक एसिड का स्तर बराबर था। हालांकि, कैल्शियम एस्कॉर्बेट फॉर्मूलेशन लेने वालों में विटामिन सी ल्यूकोसाइट (सफेद रक्त कोशिका) का स्तर अधिक था।

‌‌‌‌3. बायोफ्लैवेनॉयड्स के साथ विटामिन सी

विटामिन सी को एंटीऑक्सिडेंट के साथ भी जोड़ा जाता है, जिसे बायोफ्लेवोनोइड्स के रूप में जाना जाता है। इस फॉर्मूलेशन के समर्थक इस तथ्य का यह निष्कर्ष निकालते हैं कि बायोफ्लेवोनोइड के साथ विटामिन सी बेहतर अवशोषित हो सकता है। 1988 के एक अध्ययन से यह पता चलता है कि यह मामला हो सकता है। अध्ययन में यह दिखाया गया कि नियमित एस्कॉर्बिक एसिड फॉर्मूलेशन की तुलना में बायोफ्लेवोनॉइड्स के साथ विटामिन सी 35 प्रतिशत बेहतर अवशोषित हो रहा था। यह उन लोगों के लिए भी एक बेहतर विकल्प है जिन्हें एस्कॉर्बिक एसिड से गैस्ट्रिक लक्षण हो जाते हैं।

‌‌‌‌4. लाइपोसोमल विटामिन सी

लाइपोसोमल विटामिन सी एक फॉर्मूलेशन है जो जैव उपलब्धता या अवशोषण गुणों में सुधार करता है। अवशोषण को बढ़ाने में मदद करने के लिए, वैज्ञानिकों ने लिपोसोमल विटामिन सी विकसित किया है, एक वसा में घुलनशील आवरण जो एस्कॉर्बिक एसिड अणु को पाचन तंत्र से अधिक आसानी से गुजरने में मदद करता है। डेटा इंगित करता है कि लिपोसोम्स में विटामिन सी के मौखिक सेवन से विटामिन सी की रक्त की सांद्रता बिना कैप्सूल वाले मौखिक फॉर्मूलेशन जैसे कि एस्कॉर्बिक एसिड से अधिक होता है, लेकिन अंतःशिरा प्रशासन से कम होता है।

इसके अलावा, 2020 के एक अध्ययन में ने दिखाया कि लिपोसोमल विटामिन सी प्रयोगशाला चूहों में नियमित विटामिन सी की तुलना में कम खुराक पर रक्तचाप को कम कर सकता है।

‌‌‌‌5. एस्कॉर्बेल पामिटेट

यह फॉर्मूलेशन विटामिन सी, जो सामान्य रूप से पानी में घुलनशील होता है, को वसा-घुलनशील बनने की अनुमति देता है। यह आमतौर पर स्थानिक विटामिन सी की सामग्री में डाला जाता है ताकि इसे त्वचा में अवशोषित किया जा सके। इसका उपयोग सपोसिटरी और खाद्य संरक्षक के रूप में भी किया जाता है। यह कभी-कभी विटामिन सी एस्टर के रूप में विपणन किया जाता है लेकिन एस्टर-सी के साथ भ्रमित नहीं होना चाहिए।

‌‌‌‌6. रोज़ हिप्स के साथ विटामिन सी

रोज़ हिप्स के साथ विटामिन सी के फॉर्मूलेशन्स में आमतौर पर नियमित एस्कॉर्बिक एसिड होता है। रोज़ हिप्स गुलाब के पौधों के फल हैं और इसमें विटामिन सी की उच्च मात्रा होती है, जो अच्छी तरह से अवशोषित होती है। रोज़ हिप्स में कई एंटीऑक्सिडेंट भी शामिल होते हैं, जिनमें लाइकोपीन, फिनोल, फ्लेवोनोइड्स, एलाजिक एसिड और विटामिन ई शामिल हैं।

क्या विटामिन सी सुरक्षित है?

विटामिन सी के सभी फॉर्मूलेशन्स बेहद सुरक्षित हैं। आमतौर पर प्रति दिन 2,000 मिलीग्राम तक की खुराक ली जाती है और अच्छी तरह से हजम हो जाती है। जब तक 3,000 मिलीग्राम प्रति दिन से अधिक न हो, दस्त या ढीले मल की संभावना नहीं होती है। हालांकि, यदि एक बड़ी खुराक को तीन छोटे भागों में बाँट दिया जाता है तो पाचन संबंधी समस्या कम होती है।

संदर्भ:

  1. Hampl JS, Taylor CA, Johnston CS. संयुक्त राज्य में विटामिन सी की कमी और क्षय: तीसरा राष्ट्रीय स्वास्थ्य और पोषण जांच सर्वेक्षण, 1988 से 1994। एम जे पब्लिक हेल्थ। 2004;94(5):870875. doi:10.2105/ajph.94.5.870
  2. गैबी, एलन। न्यूट्रिशनल मेडिसिन , द्वितीय संस्करण  अप्रेल 2017
  3. हैरिसन एफई, मे जेएम। विटामिन सी फंक्शन इन द ब्रेन: वाइटल रोल ऑफ द एसकॉर्बेट ट्रांसपोर्टर SVCT2। फ्री रेडिकल बायोलॉजी एंड मेडिसिन। 2009;46(6):719–30. doi: 10.1016/j.freeradbiomed.2008.12.018।
  4. Levine M, Conry-Cantilena C, Wang Y, et al. Vitamin C pharmacokinetics in healthy volunteers: evidence for a recommended dietary allowance. Proc Natl Acad Sci U S A. 1996;93(8):37043709. doi:10.1073/pnas.93.8.3704
  5. Hampl JS, Taylor CA, Johnston CS. संयुक्त राज्य में विटामिन सी की कमी और क्षय: तीसरा राष्ट्रीय स्वास्थ्य और पोषण जांच सर्वेक्षण, 1988 से 1994। एम जे पब्लिक हेल्थ। 2004;94(5):870875. doi:10.2105/ajph.94.5.870
  6. Bates CJ, Prentice A, Cole TJ, et al. माइक्रोन्यूट्रिएंट्स: 1994-5 के राष्ट्रीय आहार और पोषण सर्वेक्षण से लेकर 65 वर्ष और उससे अधिक उम्र के लोगों के लिए हाइलाइट्स और अनुसंधान चुनौती। Br J Nutr. 1999;82(1):715. doi:10.1017/s0007114599001063
  7. अमेरिकन  जर्नल  ऑफ क्लिनिकल  न्यूट्रिशन। नवम्बर 2009;90(5):1252-63. doi: 10.3945/ajcn.2008.27016। Epub 2009 Aug 12।
  8. Staudte H, Sigusch BW, Glockmann E. चकोतरा के सेवन से पीरियोडोंटाइटिस के रोगियों में विटामिन सी की स्थिति में सुधार होता है। Br Dent J. 2005;199(4):213210. doi:10.1038/sj.bdj.4812613
  9. Hemilä H, Chalker E. विटामिन सी आईसीयू में रहने की अवधि को कम कर सकता है: एक मेटा-विश्लेषण। पोषक-तत्व। 2019;11(4):708. प्रकाशित 2019 मार्च 27. doi:10.3390/nu11040708
  10. Yung S, Mayersohn M, Robinson JB. मनुष्यों में एस्कॉर्बिक एसिड अवशोषण: कई खुराक रूपों के बीच तुलना। J Pharm Sci. 1982;71(3):282285. doi:10.1002/jps.2600710304
  11. Lee JK, Jung SH, Lee SE और अन्य। इन विट्रो और इन विवो में एस्कॉर्बिक एसिड-प्रेरित गैस्ट्रिक उच्च अम्लता बायोकैल्शियम एस्कॉर्बेट का न्यूनीकरण। कोरियाई जे फिजियोल फार्माकोल। 2018;22(1):3542. doi:10.4196/kjpp.2018.22.1.35
  12. Moyad MA, Combs MA, Vrablic AS, Velasquez J, Turner B, Bernal S. विटामिन सी मेटाबोलाइट्स, धूम्रपान की स्थिति से स्वतंत्र, ल्यूकोसाइट को काफी बढ़ाते हैं, लेकिन प्लाज्मा एस्कॉर्बेट सांद्रता को नहीं। Adv Ther. 2008;25(10):9951009. doi:10.1007/s12325-008-0106-y
  13. Vinson JA, Bose P. एस्कॉर्बिक एसिड के संबंध में मनुष्यों या साइट्रस एक्सट्रेक्ट में तुलनात्मक जैवउपलब्धता। Am J Clin Nutr. 1988;48(3):601604. doi:10.1093/ajcn/48.3.601
  14. Davis JL, Paris HL, Beals JW और अन्य। लिपोसोमल-इनकैप्सुलेटेड एस्कॉर्बिक एसिड: इस्केमिया-रेपरफ्यूजन इंजरी के लिए विटामिन सी जैवउपलब्धता और सुरक्षा क्षमता। Nutr Metab Insights. 2016;9:2530. प्रकाशित 2016 जून 20. doi:10.4137/NMI.S39764
  15. Khalili A, Alipour S, Fathalipour M और अन्य। विटामिन सी के लिपोसोमल और गैर-लिपोसोमल फॉर्मूलेशन्स: रेनोवैस्कुलर हाइपरटेंसिव चूहों में एंटीहाइपरटेंसिव और संवहनी संशोधित गतिविधि की तुलना। Iran J Med Sci. 2020;45(1):4149. doi:10.30476/ijms.2019.45310

संबंधित लेख

सभी देखें

तंदुरुस्ती

तनाव प्रबंधन के 7 अनुपूरक जो आपको सामान्य जिंदगी दे सकते हैं

तंदुरुस्ती

कैसे एक दैनिक आहार नियम की योजना बनाएं

तंदुरुस्ती

ग्लूटाथियोन के लिए 5-मिनट की मार्गदर्शिका: यह इम्यून फंक्शन (प्रतिरक्षा कार्य) के लिए यह महत्वपूर्ण