beauty2 heart-circle sports-fitness food-nutrition herbs-supplements

जिंक के 13 लाभ जिन्हें शोध करके निकाला गया है

डॉ. ली सीरग्यूविक, एनडी द्वारा

इस लेख में:


‌‌जिंक क्या है? 

जिंक मानव शरीर में होने वाली बहुत सी जैविक प्रक्रियाओं के लिए एक आवश्यक शोथरोधी और ऑक्सीकरण रोधी पोषक तत्व है। इसे अधिकतर प्रतिरक्षा तंत्र के सहायक के रूप में अच्छी तरह जाना जाता है लेकिन साथ ही यह जनन के स्वास्थ्य, बच्चों के समुचित वृद्धि एवं विकास, हड्डियों के स्वास्थ्य, दृष्टि, श्रवण क्षमता, पाचन स्वास्थ्य, त्वचा और बालों की वृद्धि के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण हो सकता है।

‌‌शरीर में जिंक की कमी होने पर क्या होता है? 

शरीर में जिंक की कमी से कई तरह से गैर-निर्दिष्ट लक्षण हो सकते हैं जिसमें बच्चों के विकास में देरी, भूख कम लगना, बाल झड़ना, वज़न में कमी, डायरिया, सोचने की क्षमता में कमी, अवसाद, पुरुषों और महिलाओं में जनन क्षमता में कमी, हार्मोन संबंधी असंतुलन, कंपकपी, घाव भरने में देरी, प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होना और स्वाद-लोप शामिल हैं।

कम कैलोरी का भोजन लेने, पाचन संबंधी विकार से पीड़ित होने, जठरांत्र सर्जरी का इतिहास होने, लिवर या किडनी संबंधी बीमारी से ग्रसित होने, रक्त संबंधी विकार होने, शराब का अत्यधिक सेवन करने या शाकाहारी आहार का अनुसरण करने वाले लोगों के शरीर में जिंक की कमी होने का जोख़िम हो सकता है। वयोवृद्ध लोगों को अक्सर अच्छी तरह से जिंक को अवशोषित करने में मुश्किल होती है। 

मानव शरीर जिंक का संग्रहण नहीं करता, इसलिए अगर पर्याप्त रूप से ग्रहण नहीं किया गया तो बहुत जल्दी कमी आ सकती है। अत्यधिक कमी दुर्लभ होती है लेकिन हल्की से लेकर मध्यम स्तर तक की कमी अपेक्षाकृत रूप से आम बात है। जैव रासायनिक रूप से कॉपर जिंक के साथ काम करता है और बहुत अधिक समय तक ज़िंक का बहुत ज्यादा सेवन करने से कॉपर की कमी हो सकती है। यही वजह है कि कभी-कभी जिंक और कॉपर अनुपूरक एकसाथ लेने की अनुशंसा की जाती है, खास करके जिंक की अत्यधिक खुराक के साथ।

‌‌किस चीज में जिंक सबसे ज्यादा होता है? 

यह आवश्यक है कि हम जिंक को अपने भोजन से प्राप्त करें। और ऑइस्टर बहुत बड़े अंतर से जिंक का इकलौता सबसे अच्छा स्रोत है। अधिकांश लोगों को लाल गोश्त और चिकन से अपना जिंक मिलता है। जिंक अनाज, बादाम आदि, बीज, और फलियों में भी पाया जाता है लेकिन फाइटिक अम्ल की मौजूदगी के चलते, इसमें अवशोषण के लिए जैव उपलब्धता कम होती है, जो जिंक को बांधे रखता है और अवशोषण को मुश्किल बनाता है। फाइटिक अम्ल की जकड़न को कम करने के लिए उन्हें पानी में कई घंटों तक पहले से भिगोकर शाकाहारी लोग अनाज और फलियों में जिंक की जैव उपलब्धता को बढ़ा सकते हैं। वयस्कों को अपने रोज के आहार में 8-11 mg जिंक लेना चाहिए या अगर आप गर्भवती हैं या स्तनपान कराती हैं तो 12 mg लें।

‌‌क्या जिंक प्रतिरक्षा तंत्र के लिए लाभकारी है?

2012 में जिंक अनुपूरक और सामान्य ज़ुकाम को रोकने से संबंधित अध्ययन की सुव्यवस्थित समीक्षा और मेटा विश्लेषण अच्छी तरह से किया गया था। 2,121 प्रतिभागियों के 17 परीक्षण किए गए। शोधकर्ताओं ने निष्कर्ष में पाया कि जिंक अनुपूरक वयस्कों में ज़ुकाम को कम करते हैं लेकिन बच्चों में नहीं। इस समीक्षा की गुणवत्ता को औसत दर्जे का माना गया और अनुसंधानकर्ताओं ने इस विषय पर और अध्ययन करने का सुझाव दिया।

‌‌क्या जिंक बालों को स्वस्थ रखने में मदद करता है?

बालों के झड़ने से जुड़ी कई दशाएं जिंक की कमी से संबंधित हो सकती हैं या कम से कम उसे बिगाड़ देती हैं। समीक्षा आलेख में कई अध्ययनों का हवाला दिया गया जिसमें सूक्ष्म पोषक तत्वों की कमियों और बालों के विकार एंड्रोजेनिक एलोपेसिया, एलोपेसिया अरेटा और टेलोजन एफ्लुवियम के बीच अंतर-संबंध दिखाए गए।

उचित खुराक महत्वपूर्ण होती है और एक अध्ययन में जिंक की बहुत ज्यादा खुराक का इस्तेमाल किया गया, लेकिन परिणाम सकारात्मक नहीं रहा। थाइरॉइड की दशाओं के चलते भी बाल झड़ते हैं और जिंक अनुपूरक से कभी-कभी सुधार होता है।

‌‌‌‌क्या जिंक से मुंहासों से छुटकारा पाने में मदद मिल सकती है?

ऐसा देखा गया है कि जिंक प्रोपिओनिबैक्टीरियम एक्नीज नामक मुंहासों से संबंधित जीवाणु की वृद्धि को रोकता है। यह सूजन संबंधी निशानों को घटाता है। इन निशानों का इस्तेमाल जीवाणुओं द्वारा त्वचा रोग फैलाने के लिए किया जाता है। कई अध्ययनों ने प्रदर्शित किया है जिंक ऐसे लोगों में मुंहासों से छुटकारा दिलाने में मदद करता है जिनमें जिंक की कमी थी। 

इसके अलावा, 2019 में एक अध्ययन में पाया गया कि त्वचा रोग से पीड़ित रोगियों में जिंक का स्तर कम होने और अपेक्षाकृत रूप से कॉपर का स्तर ज्यादा होने की बहुत संभावना है। इस असंतुलन को ठीक कर देने से त्वच रोग के लक्षणों में सुधार करने में मदद मिल सकती है। एटॉपिक डर्मेटाइटिस (एक्जिमा) और जिंक के स्तर से संबंधित 2019 की एक सुव्यवस्थित समीक्षा और अध्ययनों के मेटा विश्लेषण के परिणामों में विरोधाभास देखने को मिला। कुछ लोगों के लिए लाभकारी रहा जबकि कुछ के लिए नहीं।

इस बात पर ध्यान देना महत्वपूर्ण है कि जिंक अनुपूरक के कई प्रारूप होते हैं जिनमें त्वचा से संबंधित स्वास्थ्य के लिए कई तरह की आवश्यकताओं के लिए कई तरह की प्रभावकारिताओं के स्तर होते हैं।

क्या जिंक का स्तर पुरुषों की जनन क्षमता को प्रभावित कर सकता है?

‌‌एक सुव्यवस्थित समीक्षा और मेटा-विश्लेषण के दौरान पाया गया कि जनन क्षमता से प्रभावित पुरुषों के वीर्य में जिंक का स्तर उल्लेखनीय रूप से कम होता है। जिंक मिश्रित अनुपूरक सामान्य शुक्राणु संरचना, वीर्य की मात्रा और वीर्य की गतिशीलता में उल्लेखनीय ढंग से बढ़ोतरी करता है। व्यक्ति में जिंक के समुचित स्तर स्वस्थ गर्भधारण के लिए महत्वपूर्ण कारक हो सकते हैं।

‌‌क्या गर्भावस्था और बाल्यावस्था के लिए जिंक महत्वपूर्ण है?

डीएनए, प्रोटीन संश्लेषण और कोशिका विभाजन में जिंक की भूमिका होने के कारण यह भ्रूण के विकास के लिए बहुत जरूरी है। गर्भावस्था के दौरान जिंक का स्तर कम होने से गर्भपात हो सकता है, भ्रूण का विकास प्रभावित हो सकता है और तय समय से पहले प्रसव हो सकता है। सुव्यवस्थित समीक्षा में एक अध्ययन पर ध्यान दिया गया, जो बताता है कि जिंक अनुपूरक तय समय से पहले प्रसव के जोख़िम को उल्लेखनीय ढंग से कम करता है। हालांकि, संभव यह मां में होने वाले संक्रमण के जोखिम को कम करने से संबंधित हो, जो संभवतः तय समय से पहले प्रसव का कारण होता है।

‌‌क्या जिंक आपके पेट के लिए अच्छा होता है?

पेट और आंतों की समुचित क्रिया के लिए आहार संबंधी जिंक का अवशोषण महत्वपूर्ण होता है और इसकी कमी से क्रोहन रोग, बृहदान्त्र -शोथ, अल्सेरेटिव कोलाइटिस, सेलिएक रोग, जठरांत्र में छाले और डायरिया हो सकता है। इस बात का निर्धारण करना मुश्किल है कि कमी के चलते विकार होते हैं या विकार के चलते कमी होती है क्योंकि जिंक की कमी से पाचन संबंधी संक्रमण की संभावना बढ़ जाती है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ऐसे बच्चों को जिंक अनुपूरक लेने की अनुशंसा करता है जिनमें संक्रमण होने का जोख़िम ज्यादा है। जिंक अनुपूरक ने प्रदर्शित किया है कि इससे बच्चों में डायरिया की गंभीरता, उसकी आवृत्ति और अवधि में कमी आती है।

‌‌क्या जिंक मधुमेह के लिए अच्छा होता है?

टाइप 1 और टाइप 2 मधुमेह से पीड़ित रोगियों में ज्यादातर जिंक की कमी होती है और अनुपूरक से उनकी दशा में सुधार हो सकता है। ऑक्सीकरण रोधी, रक्त शर्करा में सुधार करने में मदद करने के लिए जाने जाते हैं और 2015 में प्रकाशित एक आलेख में मिला कि जिंक अनुपूरक की 30 mg खुराक 3-6 माह तक रोजाना लेने से मधुमेह के रोगियो में ऑक्सीकरणी तनाव के निशानों में उल्लेखनीय ढंग से कमी आती है।

‌‌क्या जिंक की कमी थाइरॉइड के कार्य को प्रभावित कर सकती है?

जिंक की कमी से थाइरॉइड के असामान्य तरीके से कार्य करने का जोख़िम बढ़ सकता है। जिंक के सामान्य उपयोग में थाइरॉइड की अहम भूमिका होती है। कई अध्ययनों में पाया गया कि सीमित जिंक स्टोर का तेजी से उपयोग करते हुए जिंक थाइरॉइड हार्मोन को सक्रिय और शरीर के लिए उपयोगी चीजों में बदलने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। थाइरॉइड के स्वस्थ प्रकार्य को बनाए रखने के लिए जिंक का इष्टतम स्तर बहुत महत्वपूर्ण होता है।

‌‌क्या जिंक अवसाद को दूर करने में मदद कर सकता है?

गंभीर रूप से अवसाद से जूझ रहे लोगों के बीच तुलनात्मक अध्ययन के लिए 2013 में एक अध्ययन किया गया। इसमें अवसाद रोधी दवा के साथ प्लेसीबो और अवसाद रोधी दवा के साथ 25 mg जिंक लेने वाले लोगों के बीच अध्ययन किया गया। 6 और 12 सप्ताह के अंत में, जिन प्रतिभागियों ने जिंक अनुपूरक लिया था, उनमें प्लेसीबो समूह के लोगों की तुलना में उल्लेखनीय ढंग से सुधार देखने को मिला।

‌‌क्या जिंक श्रवण क्षमता के लिए लाभकारी हो सकता है?

2011 में किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि जिंक अचानक श्रवण क्षमता में आई कमी को दूर करने में मदद कर सकता है। इस अध्ययन में, 66 प्रतिभागियों को 33 प्रतिभागियों के 2 समूहों में बांटा गया था। एक समूह को केवल कॉर्टिकोस्टेरॉइड जबकि अन्य समूह को कॉर्टिकोस्टेरॉइड के साथ जिंक अनुपूरक दिया गया। उपचार के पहले और बाद में उनके रक्त में जिंक के स्तर का परीक्षण किया गया। बढ़ा हुआ जिंक का स्तर स्वास्थ्य लाभ और श्रवण क्षमता में वृद्धि के उच्च प्रतिशत के साथ परस्पर संबंधित है।

‌‌क्या जिंक दृष्टि के लिए महत्वपूर्ण है?

जिंक आंखों में मौजूद होता है और आंखों के कार्य को सुचारू रूप से बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। हालांकि, दृष्टि स्वास्थ्य के लिए जिंक अनुपूरक के विरोधाभासी परिणाम देखने को मिले हैं। आखों के विकार के लिए जिंक से संबंधित अध्ययनों में अक्सर अन्य पोषक शामिल होते हैं जिनके कारण यह समझना मुश्किल हो जाता है कि प्रभाव किसी एक तत्व के कारण है या कई के कारण।

‌‌क्या जिंक हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है?

रक्त विकार थैलेसीमिया मेजर से पीड़ित रोगियों से संबंधित एक अध्ययन में पाया गया कि रोजाना जिंक का 25 mg अनुपूरक लेने से 18 माह बाद हड्डियों के खनिज तत्वों में उल्लेखनीय ढंग से सुधार हुआ। इस अध्ययन ने इसी तरह के प्रभाव के लिए अन्य लोगों में जिंक अनुपूरक का अध्ययन करने के लिए प्रोत्साहित किया।

‌‌क्या जिंक स्वाद के बदलाव में मदद कर सकता है?

2013 में एक यादृच्छिक प्लेसीबो-नियंत्रित ट्रायल किया गया जिसमें सिर और गर्दन के कैंसर के लिए रेडियोथेरेपी ले रहे लोगों में जिंक अनुपूरक का अध्ययन किया गया। इसमें यह निष्कर्ष निकला कि एक दिन में तीन बार 50 mg जिंक सल्फेट लेने वाले प्रतिभागियों में रेडियोथेरेपी के कारण स्वाद का अनुभव गंवाने से उल्लेखनीय ढंग से सुरक्षा मिली।

मुख्य बात

जिंक के रक्त परीक्षण हमेशा भरोसेमंद नहीं होते, इसलिए यह जानने के लिए अपने चिकित्सक से बात करें कि क्या जिंक अनुपूरक आपके लिए सही हो सकते हैं। कुछ कारण जिनके चलते आपका चिकित्सक संभवतः इसे उचित मान सकता है, उनमें शामिल हैं - पाचन संबंधी विकार, संकटग्रस्त प्रतिरक्षा तंत्र, जिंक की कमी के चलते अन्य दशाओं की मौजूदगी, या जिंक की कमी पैदा करने वाली दवाओं का इस्तेमाल। आपकी उंगलियों के नाखून पर सफेद चिह्न जिंक की कमी के सूचक हो सकते हैं। 

उचित खुराक महत्वपूर्ण होती है — बहुत ज्यादा खुराक से प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है और कम खुराक अप्रभावी होती है। जिंक अनुपूरक को हमेशा आहार के साथ लेने की अनुशंसा की जाती है क्योंकि बिना आहार के साथ लेने पर पाचन संबंधी समस्या हो सकती है। निरंतर ताज़ा स्वस्थ आहार लें, संपूर्ण भोजन में कई तरह का गोश्त, सब्जियां, फल और अनाज शामिल हैं। यह पर्याप्त पोषण सुनिश्चित करने का सबसे अच्छा तरीका है।

संदर्भ:

  1. Almohanna, H.M., Ahmed, A.A., Tsatalis, J.P. et al. बालों के झड़ने में विटामिन और खनिज की भूमिका: एक समीक्षा। Dermatol Ther (Heidelb). 2019; 9, 51–70. https://doi.org/10.1007/s13555-018-0278-6
  2. Chaffee BW, King JC. गर्भावस्था और प्रसव के बाद जिंक अनुपूरक का प्रभाव: सुव्यवस्थित समीक्षा। Paediatr Perinat Epidemiol. 2012;26 Suppl 1(0 1):118-137. doi:10.1111/j.1365-3016.2012.01289.x
  3. Ertek S, Cicero AF, Caglar O, Erdogan G. सफल ऑयोडीन अनुपूरक के बाद सीरम जिंक के स्तर, थाइरॉइड हार्मोन और थाइरॉइड की मात्रा। हार्मोन (एथेंस). 2010;9(3):263-268. doi:10.14310/horm.2002.1276
  4. Fung EB, Kwiatkowski JL, Huang JN, Gildengorin G, King JC, Vichinsky EP. जिंक अनुपूरक थैलेसीमिया से पीड़ित रोगियों की हड्डियों की सघनता में सुधार लाता है: डबल ब्लाइंड, यादृच्छिक, प्लेसीबो-नियंत्रित ट्रायल। Am J Clin Nutr. 2013;98(4):960-971. doi:10.3945/ajcn.112.049221
  5. Gaby A. न्यूट्रीशनल मेडिसिन। कॉनकॉर्ड, एनएच: फ्रिट्ज पर्लबर्ग प्रकाशन; 2011।.
  6. Grahn BH, Paterson PG, Gottschall-Pass KT, Zhang Z. जिंक एवं नेत्र। J Am Coll Nutr. 2001;20(2 Suppl):106-118. doi:10.1080/07315724.2001.10719022
  7. Gray NA, Dhana A, Stein DJ, Khumalo NP. जिंक और एटॉपिक डर्मेटाइटिस: एक सुव्यवस्थित समीक्षा और मेटा विश्लेषण। J Eur Acad Dermatol Venereol. 2019;33(6):1042-1050. doi:10.1111/jdv.15524
  8. Khan WU, Sellen DW. डायरिया के प्रबंधन में जिंक अनुपूरक। https://www.who.int/elena/titles/bbc/zinc_diarrhoea/en/. 3 अगस्त, 2015 को प्रकाशित। 24 अगस्त, 2020 को विजिट किया।
  9. Kucharska A, Szmurło A, Sińska B. उपचारित और अनुपचारित एक्ने वल्गैरिस में आहार का महत्व। Postepy Dermatol Alergol. 2016;33(2):81-86. doi:10.5114/ada.2016.59146
  10. Lei L, Su J, Chen J, Chen W, Chen X, Peng C. त्वचा रोग से पीड़ित रोगियों में असामान्य सीरम कॉपर और जिंक के स्तर: एक मेटा विश्लेषण। Indian J Dermatol. 2019;64(3):224-230. doi:10.4103/ijd.IJD_475_18
  11. Najafizade N, Hemati S, Gookizade A, et al. सिर और गले के कैंसर के लिए विकिरण चिकित्सा से गुजर रहे रोगियों में स्वाद में बदलाव पर जिंक सल्फेट के निवारक प्रभाव: यादृच्छिक प्लेसीबो-नियंत्रित ट्रायल। J Res Med Sci. 2013;18(2):123-126।
  12. Nishiyama S, Futagoishi-Suginohara Y, Matsukura M, et al. जिंक की कमी से पीड़ित रोगियों में जिंक अनुपूरक थाइरॉइड हार्मोन उपापचय बदलता है। जे एम कोल नट.1994;13(1):62-67. doi:10.1080/07315724.1994.10718373
  13. Ranasinghe P, Pigera S, Galappatthy P, Katulanda P, Constantine GR. जिंक और मधुमेह मेलिटस: णविक प्रक्रियाओं और चिकित्सकीय पहलुओं को समझना। Daru. 2015;23(1):44. doi:10.1186/s40199-015-0127-4
  14. Ranjbar E, Kasaei MS, Mohammad-Shirazi M, et al. बहुत अधिक अवसाद से पीड़ित रोगियों में जिंक अनुपूरक के प्रभाव: यादृच्छिक नियंत्रित ट्रायल। Iran J Psychiatry. 2013;8(2):73-79.
  15. Science M, Johnstone J, Roth DE, Guyatt G, Loeb M. सामान्य ज़ुकाम के उपचार के लिए जिंक: एक यादृच्छिक नियंत्रित ट्रायल। CMAJ. 2012;184(10):E551-E561. doi:10.1503/cmaj.111990
  16. Skrovanek S, DiGuilio K, Bailey R, et al. जिंक और पाचन संबंधी रोग। World J Gastrointest Pathophysiol. 2014;5(4):496-513. doi:10.4291/wjgp.v5.i4.496
  17. Yang CH, Ko MT, Peng JP, Hwang CF. इडिओपैथक संवेद-तंत्रिकीय बधिरता के उपचार में जिंक। Laryngoscope. 2011;121(3):617-621. doi:10.1002/lary.21291
  18. Zhao J, Dong X, Hu X, et al. शुक्राणु संबंधी प्लाज्मा में जिंक के स्तर और पुरुष की जनन क्षमता से पारस्परिक संबंध: एक सुव्यवस्थित समीक्षा और मेटा विश्लेषण। Sci Rep. 2016;6:22386. 2 मार्च 2016 को प्रकाशित. doi:10.1038/srep22386

संबंधित लेख

सभी देखें

तंदुरुस्ती

सर्दी और ज़ुकाम के मौसम के लिए प्रतिरक्षा को मज़बूत करने के 5 कुदरती तरीके

तंदुरुस्ती

तनाव से प्राकृतिक रूप से राहत के लिए 5 आवश्यक उत्पाद

तंदुरुस्ती

शीर्ष 9 पारंपरिक चीनी औषधीय जड़ी-बूटियाँ