checkoutarrow
IN
24/7 सहायता
beauty2 heart-circle sports-fitness food-nutrition herbs-supplements
सौंदर्य

संवेदनशील त्वचा के लिए रेटिनॉल के विकल्प

9 अगस्त 2019

इस लेख में:

रेटिनॉल एक बहुत लोकप्रिय पदार्थ है जिसका उपयोग बूढ़ी हो रही त्वचा और मुहांसों को कम करने में मदद करने के लिए त्वचा की देखभाल के तौर-तरीकों में किया जाता है। यह विटामिन ए से व्युत्पन्न होता है, जो एक एंटीऑक्सिडैंट है जो जारणकारी तनाव को कम करने में मदद कर सकता है। 

यह भी माना जाता है कि रेटिनॉल कोलेजन को बढ़ावा देता है, त्वचा को गुदगुदा बनाता है और झुर्रियों को कम करता है। यह त्वचा की कोशिकाओं को एक्सफोलिएट करता है और मृत त्वचा को बाहर निकालता है, जिससे नई त्वचा के विकास को बढ़ावा मिलता है। यह त्वचा की रंगत में भी सुधार कर सकता है और चर्मरोग विशेषज्ञों द्वारा अधिक खुराक में लेने को कहा जा सकता है।

रेटिनॉल सीरमों के साथ समस्या

त्वचा और चेहरे पर रेटिनॉल क्रीमों के उपयोग के कुछ प्रभावशाली लाभ हो सकते हैं, लेकिन यह संवेदनशील त्वचा में प्रतिकूल प्रतिक्रियाएं भी पैदा कर सकता है। 

इससे त्वचा सूखी, पपड़ीदार, लाल या उत्तेजित हो सकती है। इसके त्वचा को शुष्क करने के आम दुष्प्रभाव के कारण इसे अक्सर रात में लगाने का सुझाव दिया जाता है। कई उत्पाद प्रयोक्ताओं को सुबह के समय अपने चेहरे को धोने और मॉइस्चराइज़र लगाकर इस प्रभाव को रोकने का निर्देश देते हैं। 

तथापि, अगर कोई व्यक्ति बहुत अधिक धूप के संपर्क में आता है, तो यह अधिक प्रतिकूल प्रभाव भी पैदा कर सकता है। लोगों को रेटिनॉल के साथ सनस्क्रीन का उपयोग करने की सलाह दी जाती है। तब भी, संवेदनशील त्वचा वाले व्यक्ति के लिए यह बहुत मुश्किल हो सकता है।

रेटिनॉल के कुछ दुष्प्रभावों में शामिल हैं:

  • मुहांसे निकलना
  • त्वचा की कोमलता और दर्द
  • सूखी, खुजलीदार और पपड़ीदार प्रतीति

त्वचा की देखभाल और संवेदनशील त्वचा

रेटिनॉल का उपयोग सीरम, नाइट क्रीमों, दैनिक मॉइस्चराइज़र उत्पादों या रसायनिक पील्स में एक घटक के रूप में किया जा सकता है। ये त्वचा को नई और ताज़ी अनुभूति प्रदान कर सकते हैं लेकिन पीड़ा, लालिमा और संवेदनशीलता में वृद्धि भी पैदा कर सकते हैं। 

जिन लोगों में अप्रिय रसायनों या पदार्थों से प्रतिक्रिया करने वाली नाज़ुक त्वचा होती है, संभव है कि वे रेटिनॉल को सहन न कर पाएं। रेटिनॉल द्वारा उत्पन्न पीड़ा और ब्रेकआउट्स के प्रभाव बहुत दर्दनाक और तकलीफदेह हो सकते हैं। शुक्र है कि, उन लोगों के लिए, जिन्हें संवेदनशीलता होती है, रेटिनॉल के वनस्पति पर आधारित विकल्प हैं।

रेटिनॉल के विकल्प क्यों खोजें?

स्वस्थ सौंदर्य देखभाल उत्पादों के लिए कई विकल्प हैं जो त्वचा के स्वास्थ्य को स्पष्ट तौर पर सुधार सकते हैं। शुगर स्क्रब, प्राकृतिक तेल और मॉइस्चराइज़र्सmoisturizers जैसे विकल्प जिनमें एंटीऑक्सिडैंट्स होते हैं, वे रेटिनॉल उत्पादों के अप्रिय दुष्प्रभावों से रहित शानदार विकल्प हो सकते हैं। रेटिनॉल के प्रति संवेदनशील लोग कई देखभाल उत्पादों को इन शानदार विकल्पों से प्रतिस्थापित कर सकते हैं।

रेटिनॉल के विकल्पों के कुछ लाभों में शामिल हैं: 

  • थोड़े से या शून्य दुष्प्रभाव
  • प्राकृतिक त्वचा देखभाल उत्पाद
  • कम कीमत
  • दिन के किसी भी समय उपयोग करने की क्षमता
  • स्वास्थ्य देखभाल संतुलन हासिल करने के लिए अन्य उत्पादों के साथ संयोजित करने की क्षमता

बीटा कैरोटीन

कई लोग बीटा कैरोटीन के आँखों के स्वास्थ्य के लिए लाभ जानते हैं, लेकिन यह त्वचा को यूवी प्रकाश द्वारा उत्पन्न क्षति से बचाकर उसे सुरक्षित भी करता है। इसका मतलब सनबर्न से होने वाले खतरनाक प्रभावों में कमी और जलने की घटनाओं से अधिक जल्दी ठीक होना है।

इसमें एक शक्तिशाली एंटीऑक्सिडैंट, होता है जो समयपूर्व बुढ़ापे के प्रभावों से लड़ने में मदद करता हैं। शरीर में, बीटा कैरोटीन विटामिन ए में बदल जाता है, जो वही लाभ लेकिन अधिक प्राकृतिक तरीके से प्रदान करता है।

बीटा कैरोटीन वह चीज है जो गाजर, लौकी, और बटरनट स्क्वाश में नारंगी वर्णक पैदा करती है। लोग इसे भोजन में, पूरक के रूप में या सौंदर्य देखभाल उत्पादों में प्राप्त कर सकते हैं। 

गुलाब के फल का तेल

गुलाब के फल का तेल गुलाब की झाड़ी के फूल देने का काम पूरा कर लेने के बाद उससे निकाला जाता है। इन छोटे फलों का उपयोग देशी चिकित्सा शास्त्र में कई प्रयोजनों के लिए सदियों से किया जा रहा है। इसका एक आम उपयोग इसके शोथ-रोधी गुणों, जो त्वचा के ठीक होने को बढ़ावा देने और आवश्यक पोषक तत्वों के लिए है जो त्वचा को फिर से कांतिमान बनने में मदद कर सकते हैं।

इसकी एंटीऑक्सिडैंट सामग्री के अलावा, गुलाब के फल के तेल में अनिवार्य वसा अम्ल होते हैं जो त्वचा के पुनर्जलीकरण और मरम्मत में मदद कर सकते हैं। इसके परिणामस्वरूप झुर्रियों में कमी और सारे चेहरे और शरीर पर एक प्राकृतिक आभा आ सकती है। गुलाब के फलों में कषाय गुण भी होते हैं, इसलिए यह तेल रोम छिद्रों को छोटा करने, त्वचा की रंगत को एक जैसा बनाने, त्वचा को तानने और चोट के निशानों को हल्का करने में मदद कर सकता है।

बादाम का तेल

हालांकि ऐसा लगता है कि बादाम का तेल सलाद में डाला जा सकता है, कई लोग इस बात से विस्मित हैं कि यह त्वचा के लिए कितने सारे लाभों से युक्त है। यह मालिश के तेल के प्राकृतिक विकल्पों के लिए एक लोकप्रिय पसंद है और इसे दैनिक त्वचा देखभाल दिनचर्या में जोड़ा जा सकता है। 

बादाम अपने स्वास्थ्य को बढ़ावा देने वाले गुणों के लिए मशहूर हैं; विशिष्ट तौर पर, वे ऐसे कई खनिजों से युक्त होते हैं जो स्वस्थ कोशिकाओं के लिए आवश्यक हैं। आवश्यक वसा और एंटीऑक्सिडैंट गुण अधिक स्वस्थ और अधिक चमकीली त्वचा में भी योगदान करते हैं। इसमें काले घेरों और सूजी हुई आँखों को कम करने की क्षमता भी है।

बादाम के तेल का उपयोग अक्सर इसके बुढ़ापे को कम करने वाले गुणों के लिए किया जाता है जो निर्जीव दिखने वाली त्वचा का नवीकरण कर सकते हैं और शरीर को यूवी प्रकाश से सुरक्षित करने के लिए इसका उपयोग किया जा सकता है। यह आसानी से अवशोषित होता है और इसे एक हल्का तेल माना जाता है, जिससे इसके रोम छिद्रों को अवरुद्ध करने की कम संभावना होती है। यह शुष्क त्वचा का शानदार उपचार बन सकता है और इसे शुगर स्क्रब्स में मिलाकर उनके सुंदरता प्रदान करने वाले लाभों को बढ़ाया जा सकता है।

आर्गन का तेल

आर्गन का तेलत्वचा और बालों की देखभाल के लिए लोकप्रिय पसंद है। इसे मोरक्को के एक पेड़ से व्युत्पन्न गुठलियों से बनाया जाता है। शुद्ध तेल को इसके लाभों के लिए त्वचा पर सीधे लगाया या सेवन किया जा सकता है। इसे अक्सर त्वचा देखभाल उत्पादों में मिलाया जाता है और एक पूरक के रूप में उपलब्ध है।

इसे त्वचा को धूप से क्षति से बचाने, और यहाँ तक कि धूप से संबंधित त्वचा के विकारों के विकास के विरुद्ध लड़ने के लिए भी जाना जाता है। फ्री रैडिकल्स से क्षति से बचाने की इसकी क्षमता के कारण, यह अतिवर्णकता और जलने की घटनाओं को रोकने में भी मदद करता है।

इसका उपयोग अक्सर एक विलासितापूर्ण मॉइस्चराइज़र के रूप में किया जाता है: इसमें मौजूद विटामिन ई की बदौलत, यह त्वचा में पानी के प्रतिधारण को सुधार सकता है और दीर्घकालिक शुष्कता को रोक सकता है। इसके शोथ-रोधी गुणों के कारण इसका उपयोग मुहांसों, सोरियासिस और रोज़ेशिया जैसे कुछ रोगों का उपचार करने के लिए किया जा सकता है।

आर्गन का तेल जलन, खुजली और लालिमा को शांत करने की क्षमता के कारण संवेदनशील त्वचा के लिए शानदार पसंद है। यह इस सूची में पाए जाने वाले कई विकल्पों से महंगा है, और उन लोगों के लिए शायद सर्वश्रेष्ठ विकल्प नहीं है जो खुद अपने सौंदर्य उत्पाद बनाना पसंद करते हैं। तथापि, उच्च गुणवत्ता का आर्गन का तेल रेडीमेड उत्पाद को पसंद करने वाले लोगों द्वारा दुकान में खरीदे जाने वाली क्रीमों और मॉइस्चराइज़रों में पाया जाता है।

नारियल का तेल

नारियल का तेलअनेक विस्मयकारी स्वास्थ्य लाभों के लिए हाल के वर्षों में अत्यंत लोकप्रिय बन गया है। इसके लोकप्रिय उत्पाद होने का कारण इसकी सुपरफूड के रूप में प्रतिष्ठा और बहु उपयोगिता है। इसका उपयोग कई खुद करने की व्यंजन विधियों, शरीर की देखभाल के उत्पादों, प्राकृतिक स्वास्थ्य उपचारों और स्वादिष्ट व्यंजन विधियों में किया जाता है।

नारियल के तेल को मस्तिष्क के स्वास्थ्य और पेट के स्वास्थ्य को सुधारने में मदद करने की क्षमता के लिए जाना जाता है, लेकिन यह अद्भुत तेल त्वचा की देखभाल और सौंदर्य उत्पादों के लिए भी बढ़िया है। यह वसाओं के उपयोगी संयोजन से युक्त है, जो त्वचा के रोगों का उपचार करने में अद्वितीय और असाधारण है। 

सौंदर्य उत्पाद के रूप में नारियल का तेल त्वचा के अवरोधक प्रकार्य और सामान्य स्वास्थ्य में सुधार कर सकता है। इसमें शोथ-रोधी, कवक-रोधी और जीवाणु-रोधी गुण हैं, जो इसे संवेदनशीलता से लेकर शुष्कता और खीझ से ग्रस्त लोगों में मुहांसों का उपचार करने के लिए बढ़िया पसंद बनाते हैं। नारियल का तेल हल्के सनस्क्रीन के रूप में भी काम कर सकता है, इसलिए सुबह के समय एक सामान्य मॉइस्चराइज़र के रूप में इसका उपयोग उन लोगों के लिए मददगार हो सकता है जो अपने चेहरे और शरीर को हानिकारक यूवी किरणों से सुरक्षित करना चाहते हैं। 

नारियल के तेल का, इस सूची में मौजूद अन्य कई तेलों की तरह, सौम्य मेकअप रिमूवर के रूप में भी उपयोग किया जा सकता है। यह चेहरे को मॉइस्चराइज़ करते हुए गंदगी और मेकअप के अवशेषों को साफ करने में मदद करेगा।

विटामिन ई का तेल

एक आम गलतफहमी यह है कि विटामिन ई एक अकेला विटामिन है। वास्तव में, यह विटामिनों का एक समूह है जो शक्तिशाली एंटीऑक्सिडैंट प्रभावों के लिए मिलकर काम करते हैं। विटामिन ई का तेल भूरे धब्बों को मिटाने और त्वचा की कोशिकाओं को पुनः उत्पन्न करने में मदद कर सकता है। 

विटामिन ई के तेल को सीधे लगाया या मुंह से लिया जा सकता है। यह अनुपूरक के रूप में भी उपलब्ध है, जहाँ आंतरिक अवयवों और आँखों के स्वास्थ्य के लिए भी इसके लाभों का आनंद लिया जा सकता है। यह धूप से क्षति को रोकने, झुर्रियों को कम करने और लोगों को अधिक यौवनपूर्ण प्रतीति प्रदान करने में मदद कर सकता है।

विटामिन ई का उपयोग सूखी और पपड़ीदार त्वचा का उपचार करने में किया जाता है, जिससे कोशिकाओं को नमी को प्रतिधारित करने और लचीला बने रहने में मदद मिलती है। यह खुजली और एक्जिमा को कम करने में भी उपयोगी है। विटामिन ई के तेल का एक लोकप्रिय उपयोग इसके मॉइस्चराइज़िंग गुणों के कारण चोट के निशानों को प्रकट होने से रोकने की इसकी क्षमता है।

आपकी त्वचा के लिए सही चुनाव करना

उन लोगों के लिए जो संवेदनशील त्वचा के लिए सही देखभाल उत्पादों का पता लगाने के लिए संघर्षरत हैं, सामग्री का सही संतुलन खोजने के लिए जाँच-परख करने की विधि को अपनाने की जरूरत पड़ सकती है। रेटिनॉल के वनस्पति पर आधारित कई विकल्प सौम्य हैं, लेकिन प्रत्येक व्यक्ति इन विकल्पों के प्रति अलग प्रतिक्रिया कर सकता है। 

हल्के विकल्पों जैसे बादाम के तेल को चुनना इस काम को शुरू करने का अच्छा स्थान हो सकता है, और अन्य सामग्रियों जैसे विटामिन ई को इसमें शामिल करने से अधिक गतिशील और कारगर देखभाल प्रक्रिया की ओर कदम उठाने में लोगों को मदद मिल सकती है। जो लोग इन रेटिनॉल विकल्पों को अपनाते हैं, उन्हें प्रतिक्रियाओं का बारीकी से अवलोकन करने और तदनुसार समायोजन करने का ध्यान रखना चाहिए। 

संबंधित लेख

सभी देखें

सौंदर्य

डे और नाइट क्रीम में क्या अंतर है?

सौंदर्य

घर में बने आरामदायक ओटमील स्नान के साथ कुपित त्वचा को राहत दें

सौंदर्य

कौन सा क्ले मास्क आपकी त्वचा के लिए सबसे अच्छा है?